क्या हंसने के लिए भी कोई कारण होना चाहिए?
विविध लेख

क्या हंसने के लिए भी कोई कारण होना चाहिए?

Hansi ke kaaran : Hansi ke kaaran: व्यावहारिक रूप से देखा जाए तो हंसने का का कोई ना कोई कारण होना ही चाहिए क्योंकि बिना किसी कारण, हंसी का आना बहुत कठिन है। पर यह…

क्या हास्य में ‘हल्कापन’ या अश्लीलताआवश्यक है?
विविध लेख

क्या हास्य में ‘हल्कापन’ या अश्लीलताआवश्यक है?

स्वस्थ हास्य वही है जिसका आनंद सबके साथ निसंकोच बैठकर लिया जा सके। परंतु आज के संदर्भ में अश्लीलता तथा "तथाकथित" भोंडापन, हास्य का एक अभिन्न अंग बनता जा रहा है। इस संदर्भ में इस…

ज्योतिष : एक अवधारणा
जीवन दर्शन

ज्योतिष : एक अवधारणा

ज्योतिष कला है या विज्ञान है अध्यात्म या कुछ और ज्योतिष में कोई सूत्र है अभी अथवा नहीं ज्योतिष कोई निश्चित भविष्यवाणी कर भी सकती है अथवा नहीं इस बात पर चर्चा सदियों से चली…

100% safal life aur khushi – एक सफ़र- 100% सफल लाइफ और खुशी की ओर : (प्रारम्भ) भाग 1
लाइफ मंत्राज़

100% safal life aur khushi – एक सफ़र- 100% सफल लाइफ और खुशी की ओर : (प्रारम्भ) भाग 1

100% safal life aur khushi :12:55 मेरी नजर घड़ी पर पड़ी! मैंने देखा 1 बजने ही वाला था और मैं जानता था कि 1 बजते ही मिस्टर चड्ढा अपने कदम हॉल में रख देंगे। मेरी…

माता पिता की सेवा से क्या फायदा?
Uncategorized जीवन दर्शन

माता पिता की सेवा से क्या फायदा?

(Mata pita ki sewa se fayda) माता पिता की सेवा से क्या फायदा ? इस प्रश्न का उत्तर समझने से पहले जरा यह सोचना भी जरूरी होगा कि मां बाप ने जीवन भर संतानों की…

जाड़ों में नहायें कैसे ?
Uncategorized नन्हे पन्ने

जाड़ों में नहायें कैसे ?

जाड़ों के महीने में नहाने के लिए "आलसियों की स्नान-संहिता" में लिखे, निम्नलिखित उपाय करें- सर्वप्रथम अपने इष्ट देव को प्रणाम करें और उनसे इस महान कार्य के लिए अनुमति मांगें।इसके पश्चात अपने माता-पिता का…